जदयू को बड़ा झटका, विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने छोड़ी पार्टी

बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और जदयू के वरिष्ठ नेता उदय नारायण चौधरी ने अचानक जदयू से किनार कर लिया है. उन्होंने बुधवार को मीडिया के सामने इसकी घोषणा की और पार्टी नेतृत्व पर सवाल भी खड़े किये. उन्होंने कहा कि मैंने जदयू को छोड़ने का एलान किया है. चौधरी का कहना है कि साल भर से ज्यादा वक्त से जदयू में मेरी बात नहीं सुनी जा रही थी और बिहार में दलितों के साथ हो रहे व्यवहार की वजह से मैंने यह फैसला लिया है. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं गत पांच छह महीने से, जो गड़बड़िया चल रही थी, उसके बारे में पार्टी को आगाह कर रहा था. पार्टी ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया. यहां तक दलितों का आरक्षण समाप्ति के कगार पर हो गया है. छात्रवृत्ति को समाप्त कर उसे क्रेडिट कार्ड में बदल दिया गया. उन्होंने कहा कि प्रमोशन में आरक्षण समाप्त कर दिया गया. दलितों को लेकर पार्टी की ओर से कोई बयान नहीं आ रहा है.

उन्होंने कहा कि मैं जदयू में 20 साल से था. उसको सींचने और बनाने में हमारी भूमिका रही है लेकिन जदयू के कार्यकर्ताओं के मनोबल को कुचलकर धनकुबेरों को आगे बढ़ाया जा रहा है और प्राथमिकता दी जा रही है, दलितों के अधिकार को कुचला जा रहा है. महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं बढ़ गयी हैं. हाल ही में जहानाबाद की घटना देखने को मिली है. उन्होंने आरोप लगाया कि इसके साथ ही दलित छात्रों की छात्रवृत्ति बंद कर दी गयी और दलित उत्पीड़न अधिनियम में बारे में सरकार चुप है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: