लालू यादव को रोजाना दी जा रही है 50 यूनिट इंसुलिन

रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद के शुगर लेवेल को कम करने के लिए डॉक्टरों ने इंसुलिन का डोज बढ़ा दिया है. इंसुलिन का डोज बढ़ाकर 50 यूनिट कर दिया गया है, जिसे सोमवार से दिया जाने लगा है. सुबह में इंसुलिन का डोज 26 यूनिट व शाम का डोज 24 यूनिट किया गया है. इससे पहले रविवार तक इंसुलिन का डोज सुबह व शाम को 24-24 यूनिट चल रहा था. मालूम हो कि लालू का शुगर लेवेल खाने के बाद (पीपी) सबसे ज्यादा अनियंत्रित रह रहा है. यह लेवेल 400 से ज्यादा तक पहुंच जा रहा है.

शुक्रवार को शुगर लेवेल 440 व शनिवार को 360 हो गया था. ऐसे में इंसुलिन का डोज बढ़ाने के बाद डॉक्टरों को लग रहा है कि शुगर का लेवेल नियंत्रित हो जायेगा. हालांकि विशेषज्ञ डॉक्टरों का कहना है कि शुगर लेवेल को अचानक कम करने के लिए अधिक डोज नहीं बढ़ाया जा सकता है, क्योंकि शुगर लेवेल अचानक कम होने से मरीज बेहोश भी हो सकता है. इधर, मंगलवार को लालू यादव की कई आवश्यक जांच की जायेगाी, जिसमें ब्लड व हार्ट संबंधी जांच शामिल है.
खाने में करेला की भुजिया शामिल

लालू प्रसाद के खाने में करेला की भुजिया को शामिल किया गया है. सोमवार को नाश्ता में दो अंडा, नमकीन दलिया, दूध व फल दिया गया. दोपहर में करेला भुजिया, भिंडी की सब्जी, रायता, चावल, रोटी व सलाद में खीरा दिया गया. वहीं रात में रोटी, लौकी की सब्जी, भिंडी की भुजिया व सलाद दिया गया.

दिया जा रहा हाइ फाइबर युक्त फल

पेरियेनल एब्सिस से पीड़ित लालू को हाइ फाइबर युक्त फल दिया जा रहा है. इसमें अमरूद, सेब, नाशपाती, अधपका पपीता आदि शामिल है. महंगा होने के बावजूद लालू प्रसाद के लिए बाजार से खोज कर हाइ फाइबर युक्त फल मंगाया जा रहा है. डाक्टरों का कहना है कि हाइ फाइबर से कब्ज की शिकायत से राहत मिलती है.

एक सप्ताह में एक बार भी नहीं बैठी टीम

लालू प्रसाद एक मई को रिम्स में भर्ती हुए थे. इलाज के लिए पांच डॉक्टरों की टीम गठित की गयी है. जिसमें मेडिसिन से डॉ उमेश प्रसाद, सर्जरी से डॉ आरजी बाखला, नेत्र विभाग से डॉ वीवी सिन्हा, न्यूरो सर्जरी से डॉ अनिल कुमार, यूरोलॉजी से डॉ अरशद जमाल व कार्डियोलॉजी से डॉ प्रकाश कुमार शामिल हैं.

लेकिन इस एक हफ्ते में डॉक्टरों की टीम ने एक बार भी बैठ कर चर्चा नहीं की है. सिर्फ डॉ उमेश प्रसाद व उनकी टीम लालू प्रसाद की जांच करती है और जो रिपोर्ट देते हैं उसके हिसाब से निदेशक हेल्थ बुलेटिन जारी करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: